Saturday, November 14, 2009

अश्रु चाहे कल बनूँ, पर आज तो सपना बना कर...

मानता हूँ फिर बहेंगी आंधियां,
घनघोर बरसेंगी घटायें
टूट जायेंगे सभी सपने हमारे
बिजलियों की चोट खा कर,
बह चलेंगे अश्रु बन कर,
क्रूर हंस देंगी हवाएं

आज बन हम फूल जो मुस्का रहे,
कल सूख कर तिनका बनेंगे,
उजड़ कर उपवन हमारा
जलेगा शमशान जैसा
कली के आंसू बहेंगे...

कल तुम्हारे आंसुओं के साथ मैं भी बह चलूँगा,
आज तो लेकिन बुला लो,
अश्रु चाहे कल बनूँ, पर आज तो सपना बना कर,
प्रिये! आंखों में सुला लो...
----
३० मई '७४ Lucknow

1 comment:

Online Pharmacy said...

Buy Generic Cialis Online For Full Customer Satisfaction. Order Cheap Cialis Prescription or Buy Tadalafil at the Best Prices from 8pills.com.
Online Pharmacy | Buy Viagra | Buy Tramadol | Buy Cialis | Buy Fioricet | Buy Ultram | Buy Soma | Buy Tamiflu | Buy Levitra